Tuesday , December 11 2018

देवरिया महिला शेल्टर होम कांड पर राज्यसभा में हंगामा

नई दिल्ली, संसद के मानसून सत्र का आज 14वां दिन है। सदन में आज भी मुजफ्फरपुर और देवरिया शेल्टर होम में बच्चियों के साथ हुए दुष्कर्म के मुद्दे पर हंगामा हो रहा है। सोमवार को अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग को संवैधानिक दर्जा देने वाले 123वें संविधान विधेयक को लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी पारित कर दिया गया। उधर लोकसभा में एससी-एसटी संशोधन बिल लोकसभा में पारित हो गया।
– देवरिया महिला शेल्टर होम कांड पर राज्यसभा में हंगामा हुआ। कांग्रेस सांसद संजय सिंह ने इस मामले को उठाया। इसके बाद सदन 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।
-मुजफ्फरपुर और देवरिया मामले पर संसद परिसर में एसपी, सीपीआइ और आरजेडी के सांसद प्रदर्शन कर रहे हैं।
-टीडीपी सांसदों का आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग पर विरोध प्रदर्शन आज भी जारी है।
-कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के अन्य नेताओं के साथ कांग्रेस संसदीय दल की बैठक के लिए पहुंच गए हैं। इन सांसदों में ज्योतिरादित्य सिंधिया, केसी वेणुगोपाल और रंजीत रंजन शामिल हैं।
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा संसदीय दल की बैठक के लिए लाइब्रेरी बिल्डिंग में पहुंचे।
– भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार भाजपा संसदीय दल की बैठक के लिए पहुंचे।
– संसद भवन की लाइब्रेरी बिल्डिंग में भाजपा संसदीय दल की बैठक के लिए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर पहुंच गए हैं। इस बैठक में विपक्ष को घेरने की रणनीति पर विचार-विमर्श होगा।
सोमवार को कांग्रेस और आरजेडी ने बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम दुष्कर्म का मुद्दा लोकसभा में उठाया। संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही लोकसभा में कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन ने मुजफ्फरपुर मामले पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दे दिया था। कांग्रेस इस मुद्दे पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह के जवाब की मांग कर रही है।
दरअसल, एससी-एसटी एक्ट और पिछड़ों को लेकर राजनीतिक शह मात का खेल अभी भी जारी है। दलित उत्पीड़न के मुद्दे पर विपक्ष के साथ साथ सहयोगियों का भी दबाव झेल रही सरकार ने जहां अध्यादेश की बजाय संशोधन बिल लाकर पुख्ता इंतजाम करने का संदेश दिया। वहीं कांग्रेस ने एक कदम और बढ़ाते हुए अब इसे संविधान की नौवीं सूची में डालने की मांग कर दी ताकि भविष्य में भी कोर्ट इसमें दखल न दे सके।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com