Tuesday , July 23 2019

किसानों की आय दोगुनी करने को माइक्रो प्लान तैयार

अल्मोड़ा। किसानों की आय को 2022 तक दोगुनी करने के लिये जो माइक्रो प्लान तैयार किया गया है उसी अनुसार कलेस्टर प्रभारी कार्य करना सुनिश्चित करेंगे यह बात जिलाधिकारी इवा आशीष ने आज जिला कार्यालय में आयोजित एक महत्वपूर्ण बैठक में कही। उन्होंने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को आगे बढाने के लिये हमें पर्वतीय क्षेत्र में दलहनी फसलों को बढावा देने के लिये काश्तकारों को प्रेरित करना होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि न्याय पंचायत स्तर पर हमें माइक्रो प्लान को बनाना होगा इस पर हमें विशेषकर पशुपालन, मत्स्य पालन, दुग्ध उत्पाद, मशहरूम उत्पादन, सब्जी उत्पादन, रेशम उत्पादन, कुक्कुट पालन आदि पर विशेष ध्यान देना होगा ताकि न्यू इण्डिया मंथन, संकल्प से सिद्धि 2022 तक कृषकों की आय दुगनी करने के संकल्प के साथ हमें कृषकों के साथ मिलकर उनके उत्पादित माल के विपणन की व्यवस्था करनी होगी ताकि वे अपने माल को बेच सके। इसके साथ ही मिनी मण्डी की स्थापना हो सके इसके लिये भी एक कार्य योजना तैयार की जा रही है साथ ही प्रत्येक ब्लाक में कलैक्शन सेन्टर स्थापित हो सके इसके लिये भी प्रयास चल रहे है।
जिलाधिकारी ने जल सम्भरण टैंक, पालीहाउस, कृषि वानिकीकरण, चैकवॉल, वर्मी कम्पोस्ट पीट निर्माण के साथ ही जैविक कृषि को बढ़ावा देने की बात कही साथ ही उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना अन्तर्गत कलेस्टर आधरित एकीकृत कृषि, दलहन व तिलहन फसलें, आद्यौनिकी क्षेत्र विकसित करने, मधु मक्खी पालन, वाटर हारवेस्टिंग टैंक, जड़ी-बूटी उत्पादन पर विशेष ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि जंगली जानवरों से फसल के नुकसान को रोका जा सके इसके लिये भी वन विभाग और मनरेगा के माध्यम से भी कार्ययोजना बनायी जा रही है। बैठक में उपस्थित वनाधिकारी ने बताया कि कैम्पा योजनान्तर्गत उनके विभाग द्वारा अनेक ग्रामों में चाहरदीवारी बनाने का कार्य प्रस्तावित है। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि यह एक अच्छी पहल हो रही है हम सभी को आपसी समन्वय बनाकर कार्य कराना होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि नहरों की मरम्मत सहित अन्य कार्य जो कृषकों की सुविधा के अनुसार किये जाने है उसे प्राथमिकता से किया जाय इसके लिये कृषि, उद्यान, सहकारिता, सिंचाई से जुडे अधिकारी तालमेल बनाकर कार्य करेंगे।
जिलाधिकारी ने कहा कि जितने भी कलेस्टर प्रभारी बनाये गये है वे सभी रेखीय विभागों के साथ समन्वय बनाकर तुरन्त कार्य योजना बनाये और कार्य प्रारम्भ कराना शुरू करें दें। उन्होंने मुख्य कृषि अधिकारी को निर्देश दिये कि वे सभी कलेस्टर प्रभारियों के साथ समन्वय स्थापित कर काश्ताकारों की आय दुगनी करने के संकल्प को साकार रूप प्रदान करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित ने कहा कि काश्तकारों की समस्याओं को हमें समझना होगा और उनके सुझावों को भी सुनना होगा। विशेषकर उन्होंने सिचंाई की सुविधा, बीजों की उपलब्धता, रैनवाटर हारवेस्टिंग टैंको की स्थापना के साथ ही मनरेगा के अन्तर्गत किसानों को किस तरह लाभान्वित किया जा सके इस पर भी हमें ध्यान देना होगा। मुख्य कृषि अधिकारी प्रियंका सिंह ने इस अवसर पर कृषकों की आय दुगनी करने के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर अभी तक किये जा रहे कार्यों पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला और कहा कि शीध्र ही कृषकों की आय दुगना करने सम्बन्धी माइक्रो प्लान के अनुसार कार्य किया जायेगा। इस अवसर पर उन्होंने वीर शिरोमणी, माधव सिंह भण्डारी एकीकृत कृषि योजना के सम्बन्ध में भी अवगत कराते हुये इस योजना के क्रियान्वयन पर बल दिया। इस अवसर पर वनाधिकारी पंकज कुमार, जिला विकास अधिकारी मो0 असलम, मुख्य उद्यान अधिकारी हितपाल ंिसह, जलागम प्रबन्धन व आजीविका के अधिकारियों, मटेला किसान विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों ने अनेक सुझाव दिये। इस महत्वपूर्ण बैठक में परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास नरेश कुमार, सहायक निबन्धक सहकारिता, समस्त भूमि संरक्षण अधिकारी, सहायक कृषि अधिकारी, सहायक निदेशक महिला डेयरी, मत्स्य, रेशम, ग्रामीण विकास विभाग से जुडे अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में पावर पांइट के माध्यम से विस्तृत प्रकाश डाला गया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com