Sunday , June 16 2019

लोगों ने बर्फबारी का जमकर लुत्फ उठाया

बागेश्वर। जिले में बीती देर रात तक करीब पांच घंटे बारिश हुई। इस दौरान कपकोट और गरुड़ के ऊंचाई वाले गांवों में हिमपात हुआ। बुधवार की सुबह मौसम खुल गया। लोगों ने धूप का लुत्फ उठाया। वहीं चौड़ास्थल में एक फिट बर्फबारी हुई। जाड़ों में बारिश नहीं होने से खेत सूख गए थे।
पानी की भी कमी होने लगी थी। लेकिन बीती शाम करीब पांच घंटे तक बारिश हुई। इससे कपकोट के झूनी, खाती, बाछम, बोरबलड़ा, बदियाकोट, तीख, डोला, सुराग, उगिंया, पोथिंग, कर्मी, बघर, खल्झूनी, चौड़ास्थल, शामा, रातिरकेठी, गोगिना, शिखर, कीमू, भनार और झोपड़ा, गरुड़ के लमचूला, ग्वालदम, पिनाथ, पिंगलो आदि स्थानों पर हिमपात हुआ है। दो, तीन इंच से लेकर एक फिट तक बर्फबारी हुई है। संबंधित गांवों में बिजली और पानी प्रभावित हुआ है। सड़कें भी बर्फ से ढकी हुई हैं। अच्छी बारिश का किसानों को लंबे समय से इंतजार था। बुधवार की सुबह धूप खिलने से मौसम सुहावना हो गया है। कहां कितनी बारिशबागेश्वर में पांच एएमएम, गरुड़ और कपकोट में दस-दस एमएम बारिश रिकार्ड की गई।हिमपात से सड़कें ढकीशामा, झोपड़ा को जाने वाली सड़क बर्फबारी से ढक गई है। बुधवार की सुबह गाड़ियां नहीं चल सकी। इससे यात्रियों को परेशान हुई। कई लोग आधे से रास्ते से बर्फबारी के कारण घरों को लौटे।लोगों ने की मस्तीमौसम की पहली बर्फबारी का लोगों ने जमकर लुत्फ उठाया। शामा, लीती, गोगिना आदि स्थानों पर देर शाम से ही हिमपात शुरू हो गया। यहां प्रकृति प्रेमी हिमपात का लुत्फ उठाने बड़ी संख्या में पहुंचे।40 गांवों की बिजली बाधितबर्फबारी से 33 हजार वोल्ट की लाइन पूरी तरह टूट गई है। बर्फ से लदे पेड़ लाइन पर गिरने से भारी नुकसान हुआ है। इससे शामा, भनार, लीती, गोगिना, चुचेर समेत 40 गांवों की बिजली बाधित हो गई है।बर्फबारी वाले गांवों में पानी का संकटबर्फबारी गांवों में पानी का संकट भी पैदा हो गया है। सुबह नलों में पानी जम गया। लोगों ने गरम कर पानी पीने योग्य बनाया। चौड़ास्थल गांव में एक फिट हिमपात हुआ है। चौड़ास्थल पहुंचने लगे लोगचौड़ास्थल में सबसे अधिक हिमपात होने पर युवाओं ने गांव की तरफ रुख किया। गांव के सामाजिक कार्यकर्ता नीरज रौतेला ने बताया कि यहां हिमपात को देखने बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com